Connect with us

Lifestyle

क्या आप जानते हैं कि जनवरी तक महीनों के नाम कैसे रखे गए थे, यहां जानिए

Published

on

Advertisement
Advertisement

इन दिनों, महीनों और उनके नाम हमारे जीवन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि महीनों का नाम कैसे पड़ा और आज हम आपको इसके बारे में बताने जा रहे हैं।

तो चलिए जानते हैं कि महीनों के नाम कैसे रखे गए, आखिर कैसे 12 महीने साल के कैलेंडर में अस्तित्व में आए-

1. जनवरी-

जन का नाम पहले जानूस रखा गया, उसके बाद जनुअरी और उसके बाद जन। दरअसल, जनवरी का महीना रोमन देवता ‘जानूस’ के नाम पर रखा गया है।

2. फरवरी-

फरवरी का महीना लैटिन के ‘फबरा’ के ‘शुद्धि के देवता’ के नाम पर रखा गया था। कुछ लोग यह भी कहते हैं कि फरवरी का महीना रोम की देवी ‘फेबरुइरिया’ के नाम पर था।

3. मार्च-

मार्च का महीना रोमन देवता ‘मंगल’ के नाम पर रखा गया था।

4. अप्रैल

अप्रैल के महीने का नाम लैटिन शब्द ‘अपर्चर’ से लिया गया है, जिसका अर्थ है ‘कलियों का खुलना’।

5. मे-

मई के महीने का नाम रोमन देवता ‘मरक्यूरी’ की मां मैया के नाम पर रखा गया है।

6. जून-

रोम के महानतम देवता ‘ज़ीउस’ की पत्नी का नाम ‘जूनो’ था, और ‘जून’ शब्द की उत्पत्ति जूनो से हुई है।

7. जुलाई-

ऐसा माना जाता है कि रोमन साम्राज्य के शासक जूलियस सीजर के नाम पर इस महीने का नाम जुलाई रखा गया था।

8. अगस्त-

अगस्त का नाम ‘संत अगस्त सीज़र’ के नाम पर रखा गया था।

9. सितंबर-

सितंबर नाम लैटिन शब्द ‘सेप्टेम’ से लिया गया है, रोम में सितंबर को सितंबर कहा जाता है।

10. अक्टूबर-

अक्टूबर महीने का नाम लैटिन के ‘ऑक्टो’ शब्द से लिया गया है।

11. नवंबर-

नवंबर नाम लैटिन के ‘नवम’ शब्द से लिया गया है।

12. दिसंबर-

वर्ष का अंतिम महीना, दिसंबर, लैटिन शब्द ‘देसम’ से लिया गया है।

Advertisement
Advertisement
Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *