Connect with us

Lifestyle

अदरक सर्दियों के समय में हर समय रुशोई में होना चाहिए, जानिए क्यों

Published

on

Advertisement
Advertisement
Advertisement

सर्दी में जुकाम और संक्रमण से बचाव के लिए आप अपने आहार में कई खाद्य पदार्थों को शामिल कर सकते हैं। अदरक उनमें से एक है। लेकिन इससे पहले कि हम आपको अदरक के सेवन से होने वाले फायदों के बारे में बताएं। सूखे अदरक पाउडर को अदरक कहा जाता है। अदरक अदरक की तरह गर्म होता है। इसलिए अदरक को बहुत कम मात्रा में लेना फायदेमंद होता है। अदरक के अत्यधिक सेवन से ईर्ष्या, पाचन रोगों और दस्त का खतरा बढ़ जाता है। अदरक के लाभों की बात करें तो अदरक की तरह, अदरक पाउडर आयरन, कैल्शियम, मैग्नीशियम, फाइबर, सोडियम, विटामिन ए, विटामिन सी, जस्ता, फोलिक एसिड, फैटी एसिड, पोटेशियम जैसे पोषक तत्वों से भरपूर होता है।

हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने के साथ, यह हमारे शरीर को अन्य गंभीर बीमारियों जैसे कि खांसी और जुकाम और माइग्रेन से भी बचाता है। सर्दियों में कम मात्रा में सर्दी गंभीर सिरदर्द का कारण बन सकती है। इन सिरदर्द के अलावा, सूखे अदरक का सेवन माइग्रेन के कारण होने वाले दर्द से राहत दिलाता है। दरअसल, सूखा अदरक आयरन जैसे पोषक तत्वों से भरपूर होता है। जिसके कारण शरीर का रक्त संचार अच्छा बना रहता है।

अदरक पर किए गए कई शोधों के अनुसार, अदरक में दर्द कम करने के औषधीय गुण होते हैं। इसलिए सूखे अदरक को प्राकृतिक दर्द निवारक भी कहा जाता है। सूखी अदरक की चाय पीने से पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द से राहत मिलती है। अदरक का पाउडर लगभग सभी प्रकार की ऐंठन से राहत दिलाने में कारगर है। सूखे अदरक के नियमित सेवन से पाचन तंत्र आसानी से काम करता है। अगर आप पेट से संबंधित बीमारियों यानी गैस, अपच से पीड़ित हैं, तो अदरक या सूखी अदरक खाना आपके लिए फायदेमंद होगा। यह चयापचय दर को भी बढ़ाता है, यह वजन घटाने में मदद करता है। आप सूखे अदरक को भोजन या गर्म दूध के साथ भी खा सकते हैं। वेबरी ऑनलाइन जर्नल के अनुसार, सूखे अदरक पाउडर या अदरक के नियमित सेवन से शरीर के कोलेस्ट्रॉल स्तर और रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। यह हृदय रोग के खतरे को भी कम करता है। जर्नल ऑफ न्यूट्रिशन में प्रकाशित शोध के अनुसार, उल्टी और मॉर्निंग सिकनेस से राहत – गर्भावस्था के दौरान अदरक का सेवन बहुत फायदेमंद होता है।

यही कारण है कि गर्भवती महिलाओं को अदरक के लड्डू खाने की सलाह दी जाती है। पेट के रोगों के अलावा, यह सुबह की बीमारी और चिंता से छुटकारा दिला सकता है। सीमित मात्रा में सेवन करने से शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत होती है। आप इसे दूध, गर्म पानी या शहद के साथ ले सकते हैं। इसके सेवन से शरीर की गर्मी भी बढ़ी है। जिसके कारण शरीर मौसमी बीमारियों से लड़ने में सक्षम होता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि अदरक में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीबायोटिक तत्व होते हैं।

Advertisement
Advertisement