Connect with us

Lifestyle

टीका 13 जनवरी से शुरू किया जा रहा है, लेकिन उससे पहले, इन 10 चीजों को जानना चाहिए

Published

on

Advertisement
Advertisement
Advertisement

कोरोना के घटते मामलों के बीच देश में कोरोना वैक्सीन देने की तैयारी शुरू हो गई है। 3 जनवरी को, भारत के ड्रग कंट्रोलर जनरल की ओर से सीरम इंस्टीट्यूट द्वारा उत्पादित ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के टीके कोविशिल्ड और स्वदेशी रूप से विकसित कोवासीन को मंजूरी दी गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से मंगलवार को कहा गया कि टीका 10 दिनों के भीतर यानी 13 जनवरी से शुरू किया जा सकता है।

भारत सरकार द्वारा इसके लिए प्राथमिकता समूह का चयन किया गया है। सरकार तीन चरणों में टीका लगवाएगी। पहले चरण में, सभी फ्रंटलाइन हेल्थकेयर पेशेवरों और उच्च जोखिम वाले लोगों और दूसरे चरण में आपातकालीन सेवाओं से जुड़े लोगों को टीके दिए जाएंगे। तीसरे चरण में, वैक्सीन उन लोगों को दी जाएगी जो गंभीर बीमारियों से पीड़ित हैं।

भारत सरकार का लक्ष्य जुलाई 2021 तक 300 मिलियन लोगों को कोविद टीका प्रदान करना है। इसे ‘दुनिया में सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान’ भी कहा जा रहा है। भारत में कोविद -19 के सक्रिय मामलों में भारी गिरावट आई है। यह संख्या 2,31,036 हो गई है, जो कि अब तक कुल संक्रमित का केवल 2.23 प्रतिशत है।

पंजीकरण के लिए क्या आवश्यक होगा

कोरोना वैक्सीन के पंजीकरण के लिए निम्नलिखित दस्तावेजों में से किसी एक को दिखाना होगा।

आधार कार्ड

ड्राइविंग लाइसेंस

स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड

मनरेगा जॉब कार्ड

पैन कार्ड

बैंक या डाकघर की पासबुक

पासपोर्ट

पेंशन दस्तावेज़

मैं केन्द्रीय, राज्य और पीएयू कर्मचारियों का कार्ड

वोटर आई.डी.

Advertisement
Advertisement