PM Kisan Samman Nidhi Yojana: में आपने तो नहीं की ये गलती, नोट‍िस भेजकर हो रही र‍िकवरी

0

PM Kisan Samman Nidhi Yojana: में आपने तो नहीं की ये गलती, नोट‍िस भेजकर हो रही र‍िकवरी

PM Kisan Samman Nidhi Yojana: में आपने तो नहीं की ये गलती, नोट‍िस भेजकर हो रही र‍िकवरी

PM Kisan: योजना की 11वीं क‍िस्‍त जारी होने से पहले फर्जीवाड़ा सामने आया है. आयकर भरने वाले कई क‍िसान योजना का फायदा पा रहे थे. मामला सामने आने पर व‍िभाग की तरफ से नोट‍िस जारी क‍िया गया है.

PM Kisan : देश के करोड़ों क‍िसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Nidhi 11th Installment) की 11वीं क‍िस्‍त का इंतजार है. सरकार की तरफ से मई में 11वीं क‍िस्‍त जारी की जा सकती है. कई राज्‍यों ने इस पर अप्रूवल भी दे द‍िया है. 10वीं क‍िस्‍त के बाद सरकार ने e-KYC कराना जरूरी कर द‍िया है. इसके ल‍िए अंत‍िम त‍िथ‍ि को बढ़ाकर 31 मई कर द‍िया गया है.

यह भी पढ़ें:  अदानी विल्मर Q3 परिणाम: शुद्ध लाभ 66% सालाना बढ़कर 211 करोड़ रुपये हो गया

12 करोड़ से ज्‍यादा क‍िसानों ने कराया रज‍िस्‍ट्रेशन

योजना की 11वीं क‍िस्‍त जारी होने से पहले यूपी के जालौन ज‍िले में फर्जीवाड़ा सामने आया है. इसके बाद विभाग ने 1740 किसानों को नोटिस जारी कर निधि की धनराशि वापस करने की बात कही है. दरअसल, योजना का मकसद छोटे किसानों की आर्थिक मदद करना है. योजना में देशभर से 12 करोड़ से ज्‍यादा क‍िसानों ने रज‍िस्‍ट्रेशन कराया हुआ है.

1740 क‍िसानों ने क‍िया फर्जीवाड़ा

इसके तहत केंद्र सरकार की तरफ से क‍िसानों के खाते में हर साल 6000 रुपये भेजे जाते हैं. ये रकम 2000-2000 की तीन क‍िस्‍तों में भेजी जाती है. जब इस योजना को शुरू क‍िया गया था, उसी समय बताया गया था क‍ि नौकरीपेशा क‍िसान और इनकम टैक्‍स भरने वाले क‍िसान इस योजना के पात्र नहीं हैं. लेक‍िन यूपी के जालौन में 1740 ऐसे क‍िसानों के पीएम क‍िसान न‍िध‍ि लेने की बात सामने आई है, जो इनकम टैक्‍स भर रहे थे.

यह भी पढ़ें:  हो गई घोषणा PM Kisan इस तारीख को किसानों के खाते में आएंगे 2,000 रुपये

नोटिस जारी क‍िया गया

अब व‍िभागीय अध‍िकार‍ियों ने सभी अपात्र आयकर दाता किसानों को न‍िध‍ि का पैसा वापस करने के ल‍िए नोटिस जारी क‍िया गया है. अध‍िकार‍ियों के अनुसार कई क‍िसान यहां खुद आकर चेक के माध्‍यम से पैसा वापस लौटा रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here