Connect with us

Technology

सावधान रहें, हैकर्स के पास आपका ईमेल आईडी पासवर्ड है ।।

Published

on

Advertisement
Advertisement
Advertisement

बहुत से लोग अभी भी पासवर्ड के प्रति लापरवाह हैं। खराब पासवर्ड के शीर्ष –10 हमने लिस्ट में इतने कमजोर पासवर्ड देखे हैं कि कोई भी आसानी से अकाउंट हैक कर सकता है। लेकिन अगर आपके पास एक मजबूत पासवर्ड है तो क्या होगा, लेकिन वह पासवर्ड हैकर्स के पास आ गया आपने समय-समय पर साइबर हमलों की खबरें पढ़ी और सुनी होंगी। वास्तव में, साइबर हमला एक या दो नहीं, बल्कि, खातों पर लाखों बनाये जाते हैं। इसमें आपका सोशल मीडिया ईमेल और बैंक खाता शामिल हो सकता है। पोस्ट साइबर हमला, हैकर्स बड़ी मात्रा में पासवर्ड इकट्ठा करते हैं और समय-समय पर उनका इस्तेमाल करते हैं।

इसका मतलब है कि अगर हैकर्स के पास आपका पासवर्ड है, लेकिन तब आपके खाते में कोई समस्या नहीं है, इसलिए ऐसी संभावना है कि आपका खाता ऐसे समय में एक लक्ष्य बन जाएगा। इसलिए यह बेहतर है कि आप यह पता करें कि क्या आपके खाते पासवर्ड से सुरक्षित हैं। अगर यह सुरक्षित है तो अच्छा है, लेकिन अगर यह सुरक्षित नहीं है और डेटा लीक हो गया है, फिर आपको तुरंत अपना खाता पासवर्ड बदलना चाहिए। गूगल ने हाल ही में एक उपकरण पेश किया है। यह उपकरण उपयोगकर्ताओं को यह पता लगाने की अनुमति देता है कि क्या उनका पासवर्ड लीक या कमजोर हो गया है या यदि पासवर्ड का उपयोग कई खातों के साथ किया जा रहा है। आपको जाँचने के लिए password.google.com

पर जाएं और अपने खाते में लॉगिन करें। यहां आपको पासवर्ड चेकअप का विकल्प दिखाई देगा।

जैसे ही आप इस पर टैप करेंगे गूगल आपको कुछ जानकारी देंगे। गूगल आपको बताएगा कि कितने पासवर्ड के साथ छेड़छाड़ की गई है, यानी कितने डेटा लीक हुए हैं, कितने पासवर्ड पुन: उपयोग किए जाते हैं, और कितने पासवर्ड कमजोर हैं, इसके आधार पर आपको बताएंगे। समझौता किए गए पासवर्ड पर टैप करके, आप अपने पासवर्ड को विभिन्न वेबसाइटों में लॉग इन करते देखेंगे।, जो डेटा लीक के दौरान किसी बिंदु पर लीक हो गए हैं और इससे आपको निकट भविष्य में परेशानी हो सकती है। गूगल इस टूल में, आपको सूची के सामने पासवर्ड बदलने का विकल्प मिलेगा। यहां क्लिक करके आप उस वेबसाइट को एक्सेस कर पाएंगे जिसका पासवर्ड लीक हो चुका है

और आप यहां से पासवर्ड भी बदल सकते हैं। गूगल इसके अलावा एक और वेबसाइट है जो कहती है कि आपका ईमेल डेटा ब्रीच में शामिल है या नहीं। डेटा ब्रीच में आपकी ईमेल आईडी कितनी बार प्रभावित होती है। आपको भारी ईमेल के जरिए अपना ईमेल आईडी दर्ज करना होगा। जैसे ही आप यहाँ पर id डालेंगे, आपको बताया जाएगा कि आपकी ईमेल आईडी कब और किस वेबसाइट से प्रभावित हुई है। यहां आप यह भी पता लगा सकते हैं कि डेटा लीक के कारण क्या है और फिर आप इसकी सुरक्षा कर सकते हैं। इसके लिए एक मजबूत पासवर्ड और दो-चरणीय सत्यापन की आवश्यकता होगी।

Advertisement
Advertisement
Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *