केंद्रीय कर्मचारियों की आई मौज, 2.59 लाख रुपये तक बढ़ने वाली है सैलरी

1
केंद्रीय कर्मचारियों की आई मौज, 2.59 लाख रुपये तक बढ़ने वाली है सैलरी
केंद्रीय कर्मचारियों की आई मौज, 2.59 लाख रुपये तक बढ़ने वाली है सैलरी

7th Pay Commission: एक करोड़ से ज्यादा केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स के लिए खबर है। दरअसल केंद्रीय कर्मचारियों की सैलरी और पेंशनभोगियों का पेंशन एकबार फिर बढ़ने वाली है। केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स के महंगाई भत्ते (Dearness Allowance) और महंगाई राहत (Dearness Relief) में इस बार फिर 4 फीसदी तक की बढ़ोतरी के आसार जताए जा रहे हैं। अगर सबकुछ ठीक रहा है तो ये बढ़ोतरी अगस्त महीने से लागू हो जाएगी।

महंगाई भत्ता 38 फीसदी हो जाने के बाद 18 हजार बेसिक सैलरी वाले कर्मचारियों को 6,840 रुपये DA मिलेगा। इन कर्मचारियों को 34 फीसदी डीए के हिसाब से अभी 6,120 रुपये मिल रहे हैं। यानी उनकी मासिक सैलरी में 720 रुपये बढ़ेंगे। इस तरह वार्षिक वेतन में 8,640 रुपये की बढ़ोतरी होगी।

वहीं जिन कर्मचारियों की बेसिक सैलरी 56,900 रुपये है, उनको 38 फीसदी महंगाई भत्ता होने पर 21,622 रुपये डीए के मिलेंगे। फिलहाल 34 फीसदी डीए के हिसाब से अभी ऐसे कर्मचारियों को 19,346 रुपये मिल रहे हैं तो उनकी प्रतिमाह सैलरी में 2,276 रुपये का इजाफा होगा। यानी सालाना वेतन में 27312 रुपये की बढ़ोतरी होगी। अधिकतम सैलरी रेंज में कैलकुलेशन करें तो 56,900 रुपए की बेसिक सैलरी पर हर महीने 21622 रुपए DA के रूप में मिलेंगे। कुल सालाना महंगाई भत्ता 259464 रुपए होगा।

यह भी पढ़ें:  भुवनेश्वर में सोमवार को पेट्रोल और डीजल की कीमतों में गिरावट, अपने शहर में ईंधन दर की जाँच करें

दरअसल All India Consumer Price Index  (AICPI) ने मार्च के जारी आंकड़े  में एक अंक की बढ़ोतरी दर्ज गई है, ऐसे में एक बार फिर महंगाई भत्ता बढ़ना तय माना जा रहा है। संभावना जताई जा रही है कि कर्मचारियों का जुलाई-अगस्त में महंगाई भत्ता (DA) महंगाई राहत (DR) में 4 फीसदी तक की बढ़ोतरी हो सकती है। अगर ऐसा होता है कर्मचारियों और पेंशनभोगियों का डीए और डीआर 34 से बढ़कर 38 फीसदी हो जाएगा।

दरअसल सातवें वेतन आयोग के तहत केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते और महंगाई राहत में दो बार रिविजन होता है। पहला जनवरी और दूसरा जुलाई के महीने में दिया जाता है। सरकार ने 30 मार्च को डीए और डीआर में 3 फीसदी की बढ़ोतरी की थी। जिसके बाद यह बढ़कर 31 से 34 फीसदी हो गया था।

यह भी पढ़ें:  Share Market बीएसई 10 करोड़ पंजीकृत निवेशक खातों के निशान तक पहुंच गया

महंगाई भत्ता सरकारी कर्मचारियों के रहन-सहन को बेहतर करने के लिए दिया जाता है। यह सरकारी कर्मचारियों, पब्लिक सेक्टर के कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को दिया जाता है। इसे देने की वजह यह है कि बढ़ती महंगाई में भी कर्मचारियों का रहन-सहन का स्तर बेहतर बना रहे।

अगर जुलाई में डीए और डीआर में रिवीजन होता है, तो इसमें फिर 4 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिल सकती है। AICPI इंडेक्स के आंकड़ों में दो महीने लगातार कमी आने के बाद मार्च 2022 में 1 प्वाइंट का उछाल देखा गया है। यही कारण है कि DA बढ़ने की उम्मीद जाग गई है। हालांकि, अभी अप्रैल, मई और जून के नंबर आने है जिसके बाद ही अंतिम फैसला होगा।

यह भी पढ़ें:  7th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारियों की बल्ले-बल्ले, अबकी बार DA 38 फीसदी के पार

जनवरी, फरवरी में इसमें हल्की गिरावट आई थी। जनवरी में डेटा घटकर 125.1 था, जो फरवरी में 125 अंक पर आ गया था। अब मार्च में यह बढ़कर 126 पर पहुंच गया है। अगर आने वाले महीनों में ये और बढ़ता है तो डीए बढ़ना तय है। खबरों के मुताबिक जुलाई में फिर से डीए में 4 फीसदी की बढ़ोतरी हो सकता है।इससे 50 लाख से अधिक सरकारी कर्मचारियों और 65 लाख पेंशनभोगियों को फायदा होगा।

आपको बता दें कि जुलाई 2021 में केंद्र ने महंगाई भत्ता और महंगाई राहत को 17 फीसदी से बढ़ाकर 28 प्रतिशत कर दिया। केंद्र सरकार ने कोरोनावायरस महामारी के कारण लगभग डेढ़ साल से डीए को रोक दिया था। अक्टूबर 2021 में 3 फीसदी और बढ़ोतरी के साथ केंद्र सरकार के कर्मचारियों के लिए DA बढ़कर 31 प्रतिशत हो गया। अब इसे 3 फीसदी बढ़ाकर 34 फीसदी कर दिया गया है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here