ऊबड़ खाबड़ रास्तों पर चलाने के लिए कैसी कारें होती हैं बेस्ट जानिए यहां

0
ऊबड़ खाबड़ रास्तों पर चलाने के लिए कैसी कारें होती हैं बेस्ट जानिए यहां
ऊबड़ खाबड़ रास्तों पर चलाने के लिए कैसी कारें होती हैं बेस्ट जानिए यहां

पहाड़ों की यात्रा का एक अलग ही आनंद होता है. बहुत से लोग अपनी भागदौड़ भरी जिंदगी से बचकर शांति ढूंढने के लिए पहाड़ों की ओर निकल पड़ते हैं. ऐसे में अगर आपके पास एक शानदार और दमदार कार है, जो पहाड़ों के लिहाज से एकदम बेस्ट है तो आपकी यह यात्रा और भी शांति भरी तथा मौज भरी हो सकती है. हालांकि, अगर आपके पास ऐसी कोई कार नहीं है और आप कोई ऐसी कार खरीदना चाहते हैं जिसे आप अपने शहर में इस्तेमाल करने के साथ-साथ पहाड़ों पर भी इस्तेमाल कर सकें और जो पहाड़ों की यात्रा के लिए बेस्ट हो, तो आज हम आपको कुछ ऐसी कारों के बारे में बताने वाले हैं.

यह भी पढ़ें:  टोयोटा ने अपनी कारों की रेंज में कीमतों में बढ़ोतरी लागू की, यहां नई कीमतों की जांच करें

जिन कारों के बारे में हम आपको बताएंगे वह पहाड़ों पर चलने के लिए या कहें किऑफ-रोडिंग के लिए एकदम बेस्ट हैं. इससे पहले कि हम आपको कुछ कारों के नाम बताएं, जो पहाड़ों के लिए बेस्ट होती हैं, उससे भी पहले बता दें कि पहोड़ों के लिए या ऑफ-रोडिंग के हिसाब से वो कारें बेस्ट होती हैं, जिनका ग्राउंड क्लीयरेंस ज्यादा होता है. ग्राउंड क्लीयरेंस ज्यादा होगा तो पहाड़ों के ऊबड़-खाबड़ रास्तों पर भी कार की निचली सतह जमीन पर नहीं टकराएगी और आपकी यात्रा अच्छी होगी.

सबसे ज्यादा ग्राउंड क्लीयरेंस वाली कारें

  • महिंद्रा अल्टुरस जी4 ग्राउंड क्लीयरेंस- 244 मिमी
  • इसुजु डी-मैक्स एमयू-एक्स ग्राउंड क्लीयरेंस- 230 मिमी
  • महिंद्रा थार ग्राउंड क्लीयरेंस- 226 मिमी
  • टोयोटा फॉर्च्यूनर ग्राउंड क्लीयरेंस- 221 मिमी
  • किआ सोनेट ग्राउंड क्लीयरेंस- 211 मिमी
  • निसान किक्स ग्राउंड क्लीयरेंस- 210 मिमी
  • टाटा नेक्सन ग्राउंड क्लीयरेंस- 209 मिमी
  • फोर्स गोरखा ग्राउंड क्लीयरेंस- 205 मिमी
  • रेनो डस्टर ग्राउंड क्लीयरेंस- 205 मिमी
यह भी पढ़ें:  Tata Avinya EV कॉन्सेप्ट कवर तोड़ता है, 2025 में लॉन्च करने के लिए 500 किमी से अधिक रेंज की पेशकश करता है

सिर्फ यही नहीं, आप बाजार में मौजूद अन्य विकल्पों को भी तलाश सकते हैं लेकिन यहां आपको ध्यान इसी बात का रखना है कि ऑफ-रोडिंग के लिए सिर्फ उन्हीं कारों को चुनें, जिन कारों का ग्राउंड क्लीयरेंस ज्यादा हो. इसके अलावा इंजन का दमदार होना तो जाहिर तौर पर जरूरी होता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here