Mentha Farming Business Idea: 3 महीने में लाखों कमाने का आसान तरीका, कैसे करें ‘हरा सोना’ की खेती

Avatar

By Harsh

Published on:

Mentha Farming
WhatsApp Redirect Button

Mentha Farming Business Idea: दोस्तों जैसा कि आप जानते हैं आज के समय में खेती को भी एक बिजनेस की तरह ही लिया जा रहा है और लोग आधुनिक तरीके से खेती करके काफी बढ़िया पैसा कमा रहे हैं।लोग अलग-अलग तरह की खेती कर रहे हैं जिसके चलते उनकी आमदनी पहले से काफी ज्यादा बढ़ गई है। आज हम आपको कुछ ऐसे ही बिजनेस आईडियाज के बारे में बताने वाले हैं जिसमें यदि आप खेती में इंटरेस्ट रखते हैं तो आप इस बिजनेस के चलते अच्छा खासा पैसा कमा सकते हैं।

Mentha Farming Business Idea

देश के किसान अब पारंपरिक खेती छोड़कर नकदी फसलों की ओर रूख कर रहे हैं। हर्बल उत्पादों में मेंथा का नाम प्रमुखता से लिया जाता है। मेंथा की खेती से सिर्फ 3 महीने में किसान लखपति बन सकते हैं। इसके तेल की भारतीय बाजार के साथ-साथ विदेशों में भी भारी मांग है। इस वजह से मेंथा की फसल को किसान “हरा सोना” कहते हैं।

Mentha Farming
Mentha Farming

Mentha Farming एक लाभदायक व्यवसाय

दोस्तों आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मेंथा को पिपरमिंट, पुदीना, कर्पूरमिंट और सुंधि तपत्र के नाम से भी जाना जाता है। इसका उपयोग दवाएं, तेल, ब्यूटी प्रोडक्ट्स, टूथपेस्ट और कैंडी बनाने में किया जाता है। भारत मेंथा के तेल का बड़ा उत्पादक है और यहां से इसे दूसरे देशों में निर्यात भी किया जाता है।तो यह तो आप जान ही गए होंगे कि यदि इसका व्यवसाय किया जाए तो इसमें आप कितना अच्छा पैसा कमा सकते हैं।इसके लिए लेकिन कुछ आवश्यक चीजों की आवश्यकता होती है और साथ ही साथ मेहनत भी ज्यादा करनी पड़ती है क्योंकि खेती के काम में भले ही पैसा ज्यादा हो मेहनत भी काफी ज्यादा लगती है।

Mentha Farming के लिए आवश्यकताएँ

ऐसा बताया जाता है कि मेंथा की खेती के लिए अच्छी सिंचाई की जरूरत होती है। सही समय पर बोई गई मेंथा की फसल तीन महीने में तैयार हो जाती है। मेंथा की खेती के लिए मिट्टी की pH वैल्यू 6.5 से 7.5 के बीच होनी चाहिए। यदि आपके पास यह सभी चीज उपलब्ध है तो आप Mentha की खेती करके अपना बिजनेस सेटअप कर सकते हैं।

Mentha Farming की प्रक्रिया

मेंथा की रोपाई फरवरी से लेकर मध्य अप्रैल तक की जाती है और जून में इसकी फसल काट ली जाती है। मेंथा की फसल को हल्की नमी की जरूरत होती है और हर 8 दिन में सिंचाई की जाती है। साफ मौसम देखकर जून में इसकी कटाई कर लेनी चाहिए।

इस फसल की उत्पादन और उपज के बारे में बात की जाए तो अभी तक ऐसा बताया गया है की एवरेज एक हेक्टेयर में मेंथा की खेती से लगभग 125-150 किलोग्राम तेल मिल सकता है।

Mentha Farming
Mentha Farming

लागत और मुनाफा

मेंथा की खेती में लागत बहुत कम आती है और फसल 90 से 110 दिन में तैयार हो जाती है। एक एकड़ में मेंथा की खेती करने में 20,000 से 25,000 रुपये का खर्च आता है। बाजार में मेंथा का भाव 1000 से 1500 रुपये प्रति किलो रहता है। इस प्रकार, एक फसल से 1 लाख रुपये तक की आमदनी हो सकती है।

Mentha Farming किसानों के लिए एक बेहद लाभदायक व्यवसाय हो सकता है। यह फसल कम समय में अधिक मुनाफा देती है और इससे किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार हो सकता है। इसलिए, मेंथा की खेती को “हरा सोना” कहा जाता है और यह किसानों के लिए एक बेहतरीन विकल्प है।

यह भी पढ़ें :-

WhatsApp Redirect Button
Avatar

Harsh

Leave a Comment